Web Hosting क्या है? और कहाँ से खरीदें ? What is Web Hosting in Hindi

दोस्तों, जिस प्रकार आज से इस आधुनिक समय में Internet का प्रचलन बढ़ रहा है ठीक उसी प्रकार लगभग सभी लोग अपने business को Internet के जरिये से फैलाना चाहते है। लेकिन Internet पर business करने के लिए सबसे पहले हमे एक Website की जरुरत पड़ती है

और Website को बनाने के लिए मेन दो चीजों की जरुरत पड़ती है जिसमे से पहला है Domain और दूसरी है web Hosting (जिसे Hosting भी कहते है).इन दोनों चीजों के बिना हम कोई Website या Blog बिल्कुल नहीं बना सकते है। हम पहले ही डोमेन के बारे में बात करेंगे आज हम बात करेंगे कि Web hosting क्या है? (What is Web hosting in Hindi) 

वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है, बिगिनर के लिए कौन सी होस्टिंग बेस्ट होती है, होस्टिंग में कौन कौन फीचर्स होते है, मैं अपने ब्लॉग में किस होस्टिंग को यूज़ करता हु ऐसे ही कई प्रश्नो के बारे में बारीकी से बात करेंगे ➙➙

Web-Hosting क्या है (What is Web hosting in hindi)

हम सब अपने जीवन में काम करते है जिसमे कुछ जॉब करते है वही कुछ Business. हम सबको अपने Business में यूज़ होने वाली चीजों को रखने के लिए एक दुकान या स्टोर की आवश्यकता होती है, इसी तरह कोई भी Material जो आप अपनी साइट पर रखते हैं जैसे कि Video, photo, text या मीडिया आदि।

इंटरनेट पर हर व्यक्ति को इन Material को रखने के लिए एक स्थान की जरुरत होती है, उस जगह को Web-Hosting कहते है। जब हम Web-Hosting खरीदते है तो हमे इंटरनेट पर अपनी एक जगह दी जाती है जहा हम साइट में उपस्थित files रखते है।

लोग जिस address की मदद से हमारी वेबसाइट को वेब पर सर्च करते है उसे Domain कहते है जैसे www.rohitking.com इस तरह से Domain और होस्टिंग आपस में कनेक्टेड रहते है

Hosting को खरीदने के बाद हमारी Web Hosting को एक कंप्यूटर से जोड़ा जाता है और अब इस कंम्पयूटर को Internet से जोडा जाता है

See also  70% Discount | Hostgator india से होस्टिंग कैसे ख़रीदे?

और कंम्पयूटर को 24 घंटे ऑन रखा जाता है और उस पर आपकी साइट की सभी सामग्री स्टोर रहती है उसे Host-Computer या Web-Host कहते हैं। ऐसा इसलिए किया जाता है जिससे हमारी Website/Blog 24×7 ऑनलाइन रहे।

Web Hosting कैसे काम करती है? (How does a web hosting works in hindi)

जब हम किसी वेबसाइट को बनाने का सोचते है तो हमे उसे इंटरनेट पर स्थापित करना होता है बिना इंटरनेट पर स्थापित किये वेबसाइट बनाने का कोई मतलब नहीं होता है।

स्थापित करने के लिए हमे इंटरनेट पर एक जगह की जरुरत होती है जिसे होस्टिंग कहते है ये स्थान आपकी होस्टिंग कंपनी का सर्वर होता है। जिसे होस्टिंग कंपनी द्वारा प्रोवाइड करवाया जाता है

इस सर्वर पर आप अपनी वेबसाइट में उपस्थित टेक्स्ट, मीडिया, डेटाबेस, वीडियो, ऑडियो, इमेज आदि स्टोर कर सकते हैं। आप ये चीजे कितनी और किस मात्रा में स्टोर कर सकते है ये आपके द्वारा चुनी गयी होस्टिंग प्लान पर निर्भर करता है

इसलिए अच्छी होस्टिंग कंपनी चुनने के साथ साथ होस्टिंग प्लान चुनना भी बहुत जरुरी होता है जब आप अच्छी होस्टिंग चुन लेते है एक बार जब होस्टिंग कंपनी आपकी वेबसाइट को होस्ट करती है

तो आप अपने डोमेन एड्रेस या डोमेन नाम को वेब ब्राउज़र में सर्च करके अपनी साइट देख सकते है जब आप ऐसा करते हैं, तो आपका कंप्यूटर उस सर्वर से जुड़ जाता है जिस पर आपकी वेबसाइट होस्ट की जा रही होती है. कुछ इस तरह से वेब होस्टिंग काम करती है

जब आप होस्टिंग में लॉगिंग करते है तो आप अपने cPanel को एक्सेस कर सकते है जिसकी मदद से सर्वर पर आसानी से किसी भी तरह की फाइल को अपलोड किया जा सकता है cPanel की मदद से आप अपनी साइट को वर्डप्रेस, wix जैसे वेबसाइट बिल्डर पर स्थापित कर सकते हैं।

अपनी वेबसाइट को होस्ट करने से पहले आपके पास डोमेन का होना जरुरी है इसलिए होस्टिंग से पहले डोमेन ख़रीदे

वेब होस्टिंग के फीचर्स (What is Web Hosting features in Hindi)

हम जब भी एक Blog या website को बनाते है तो सबसे पहले सवाल होता है एक अच्छा domain नाम चुनना उसके बाद एक अच्छी hosting चुनना। नए लोगो के लिए domain से hosting चुनना ज्यादा कठिन होता है.

क्युकि उन्हें ये नहीं पता होता है कि आखिर एक अच्छी होस्टिंग कैसे चुने? उन्हें नहीं पता होता कि Web Hosting के क्या फीचर होते है? आज हम समझेंगे कि Web Hosting में क्या फीचर होते है. जिससे हम सब एक अच्छी hosting को चुन पाए।

See also  70% Discount | GreenGeeks से होस्टिंग कैसे ख़रीदे? GreenGeeks review 2023

Hosting के अलग अलग प्लान में अलग अलग फीचर देखने को मिलते है. जिनके पैसे भी अलग होते है होस्टिंग में कई फीचर उपलब्ध होते है. जैसे:- Disk space and bandwidth available, data transfer, number of domains and email boxes, privacy and security settings, website design and marketing tools, technical support and time guarantee. चलिए इनको बारीकी से समझते है

Storage/Disk Space

जब भी आप Hosting खरीदते है तो आपको Storage/Disk Space मिलता है जिसे सर्वर में किराए पर लिया जाता है। Storage/Disk Space आपकी साइट में उपस्थित Text, File, Media, Video, Audio, Image आदि पर निर्भर करता है

इसलिए Storage/Disk Space को हमेशा साइट पर उपस्थित सामग्री के हिसाब से चुने। यदि सामग्री ज्यादा है तो ज्यादा स्पेस चुने। यदि सामग्री कम है तो कम स्पेस चुने।

कोशिश करे Unlimited Storage/Disk Space चुनने की।

Bandwidth/Data Transfer

Data Transfer का मतलब होता है कि आपकी साइट पर हर महीने कितना Data Transfer हो रहा है या कितना ट्रैफिक आ रहा है। कम Data Transfer सीमा होने पर यदि आपकी साइट पर ज्यादा ट्रैफिक आ जाता है तो आपकी साइट Temporary shutdown/downtime भी हो सकती है।

जिससे आपकी साइट को बुरा प्रभाव देखने को मिल सकता है। इसलिए Data Transfer सीमा अधिक ही चुने।

Bandwidth का मतलब होता है कितना डेटा एक बार में ट्रांसफर किया जा सकता है। या दूसरी भाषा में Web host provider ने एक विशेष महीने में डेटा अपलोड करने और डाउनलोड करने की मात्रा प्रदान की है जिसे बैंडविड्थ कहते है।

इसलिए, एक बार जब आप अपनी फ़ाइलों को होस्ट कर लेते हैं और उन्हें एक वेबसाइट में बदल देते हैं, तो यह सब Bandwidth तस्वीर में आता है।

कई होस्ट Unlimited Bandwidth प्रदान करते हैं लेकिन यदि आपका Hosting provider इस फीचर पर ज्यादा ध्यान नहीं देता है या इसे Manage नहीं करता है तो ये आपके वेबसाइट पर आने वाले ट्रैफिक के लिए नुकसान देह साबित हो सकता है इसलिए Hosting plan और Hosting provider को ध्यान से चुने।

Control Panel Features (cPanel Features)

सबसे महत्वपूर्ण काम किसी Website owner का होता है वो होता अपनी वेबसाइट को पूरी तरह से एक्सेस और मैनेज करना। cPanel पर पूरी तरह से एक्सेस प्राप्त करना। साइट की सुरक्षा को ध्यान में रखना।

See also  70% OFF | Hostgator से होस्टिंग कैसे खरीदे? Hostgator Review in Hindi

Domains, Subdomains, FTP Accounts, Pages, Add-on Domains पूरी तरह मैनेज करना। इसलिए होस्टिंग चुनते समय इस बात का ख्याल जरूर रखे कि आपका Hosting provider आपको ये सुविधाएं जरूर दे।

Uptime

आपकी साइट कितने समय तक web पर online रहती है इसे Uptime कहते है आपने भी कई साइट को देखा होगा कि कुछ समय पहले वो अच्छे से खुल रही होती है काम कर रही होती है वही कुछ समय के बाद वो डाउन हो जाती है मतलब खुल नहीं रही होती है

यदि आपकी साइट भी ऐसा बार बार करती है तो गूगल आपकी साइट की रैंकिंग डाउन कर सकता है साथ ही User experience भी खराब हो सकता है। Google की नजर में आपकी साइट की वैल्यू ख़राब होती है

आज के समय में हर अच्छी Hosting कंपनी 99.9% अपटाइम की गारन्टी देती है। Hosting लेने से पहले इसे जरूर चेक करे।

Customer service (Help)

आज के समय में आपको हर अच्छी Hosting में 24/7 Technical support मिल जाता है जिसका मतलब है कि यदि आपको अपनी साइट से रिलेटेड कोई भी, किसी भी समय प्रॉब्लम आती है तो आप Hosting provider से कॉल या चैट करके अपनी समस्या का सलूशन पा सकते है जिसमे वो आपकी 100% Help करने की कोशिश करते है।

यदि आप एक बेहतरीन Hosting लेने की सोच रहे है जिसमे आपको Latest/additional feature की जरुरत है और आपके पास अच्छा बजट है तो आप ऊपर दिए गए फीचर के साथ साथ नीचे दिए गए फीचर को भी देख सकते है।

Database Support

यदि आप अलग तरह का Database चाहते है जैसे PostgreSQL, Oracle, SQL सर्वर आदि तो पहले चेक करके पता करे क्युकि आज के समय में ज्यादातर होस्टिंग प्रोवाइडर MySQL Database प्रोवाइड करवाते है

Shell Access 

आप शेल एक्सेस प्रदान करने वाली होस्टिंग को चुन सकते है शेल एसएसएच पर कमांड लाइन से आपके सर्वर में प्रवेश करता है जहा आप अपनी फाइल को पूरी तरह से एक्सेस और ऑपरेट करने में सक्षम होंगे

Language Support 

यदि आप होस्टिंग में किसी दूसरी यूनिक तरह की लैंग्वेज चाहते है तो जरूर चेक करे कि क्या प्रोवाइडर ये प्रदान करता है या नहीं। जैसे PHP, CGI, PERL, PYTHON and Ruby On Rails.

  • Number of Domains and Subdomains
  • Email Accounts and Features
  • Mobile App or Website
  • .htaccess Files
  • Cron Jobs
  • Site Backup
  • Choice of OS
  • Extra Applications

वेब होस्टिंग के प्रकार (Types Of Web-Hosting in Hindi)

2 thoughts on “Web Hosting क्या है? और कहाँ से खरीदें ? What is Web Hosting in Hindi”

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap